4:08 pm - Sunday April 22, 2018

यूपी:यादव राज घराने में मुग़लिया जंग – भतीजे ने चाचा को तो भाई ने भाई को बाहर किया।

1781 Viewed रुदौली न्यूज़ टीम 0 respond

समाजवादी पार्टी में चल रही मुग़लिया जंग में रविवार को नया मोड़ आ गया। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पार्टी विधायकों, मंत्रियों की बुलाई गई बैठक में वरिष्ठ मंत्री शिवपाल सिंह यादव, नारद राय, ओम प्रकाश और शादाब फातिमा आदि को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की घोषणा कर दी। साथ ही अमर सिंह की करीबी फिल्म विकास परिषद की उपाध्यक्ष जया प्रदा को भी उनके पद से हटा दिया। तो दूसरी और शिवपाल यादव ने राम गोपाल वर्मा को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने का आरोप लगा कर समाज वाड़ी पार्टी से छे साल के लिए निकाल दिया।

जानकारों का कहना है की अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी में अपने वर्चस्व को बनाए रखने के लिए नै पार्टी तक का गठन कर सकते हैं ।

इस मुग़लिया जंग पर ट्विटर पर आ रही कुछ टिप्पिणयां :

समाजवादी पार्टी में चली आ रही ” मुग़लिया जंग ” का घटनाक्रम

– 14 अगस्त को शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी छोड़ने की धमकी दी।
– 15 अगस्त को मुलायम सिंह यादव का बयान आया जिसमें उन्होंने कहा कि अगर शिवपाल ने पार्टी छोड़ी तो टूट जाएगी।
– 12 सितंबर में अखिलेश ने गायत्री प्रसाद और राजकिशोर सिंह को आरोपों के चलते हटा दिया।
– 13 सितंबर को मुलायम सिंह ने शिवपाल को यूपी प्रभारी नियुक्त किया।
– 13 सितंबर को अखिलेश ने शिवपाल के तीन अहम विभाग छीन लिए।
– 13 सितंबर को ही अखिलेश ने शिवपाल के करीबी समझे जाने वाले चीफ सेक्रेटरी दीपक सिंहल को हटा दिया।
– 15 सितंबर को मुलायम ने अखिलेश और शिवपाल के साथ बंद कमरे में बातचीत की।
– 17 सितंबर को अखिलेश, शिवपाल के घर पहुंचे और पार्टी में फूट से इंकार किया।
– 18 सितंबर को शिवपाल को एक बार फिर सभी छीने गए मंत्रालय वापस मिल गए।
– 19 सितंबर को शिवपाल ने पार्टी के राज्य अध्यक्ष की हैसियत से 7 अखिलेश समर्थकों को पार्टी से निष्कासित कर दिया।
– 26 सितंबर को गायत्री प्रजापति की दोबारा अखिलेश की कैबिनेट में एंट्री।
– 27 सितंबर को अखिलेश ने पार्टी से निकाले गए युवा नेताओं का पक्ष लिया।
– 3 अक्तूबर को अमरमणि त्रिपाठी को टिकट देने पर अखिलेश की नाराजगी देखी गई।
– 6 अक्तूबर को मुख्तार अंसारी की पार्टी के सपा में विलय के बाद भी अखिलेश नाराज दिखाई दिए।
– 13 अक्तूबर को अखिलेश ने कहा कि वो अकेले चुनाव प्रचार कर सकते हैं।
– 14 अक्तूबर को मुलायम सिंह यादव ने कहा कि चुनावों के बाद सीएम, विधायकों के द्वारा चुना जाएगा।
– 23 अक्तूबर को अखिलेश ने शिवपाल समेत कुछ अन्य मंत्रियों को बरखास्त कर दिया।

Don't miss the stories followरुदौली न्यूज़ and let's be smart!
Loading...
0/5 - 0
You need login to vote.

आसाम में भाजपा की जीत से राष्ट्रीय अध्यक्ष् श्री शाह जी का सन्देश “कांग्रेस मुक्त भारत देश” का सपना साकार हो रहा है । – वीरेंद्र तिवारी

prev-next.jpg

ब्रेकिंग न्यूज़ अभिनेता ओमपूरी का हार्ट अटैक से मुम्बई में निधन

Related posts
Your comment
Leave a Reply

  (To Type in English, deselect the checkbox. Read more here)

Lingual Support by India Fascinates
%d bloggers like this: