4:00 pm - Sunday April 22, 2018

​डॉ अम्बेडकर ने स्वतंत्रता, समानता और समता की बात कही- राजनाथ शर्मा

233 Viewed रुदौली ब्यूरो 0 respond
single-thumb.jpg

​डॉ अम्बेडकर ने स्वतंत्रता, समानता और समता की बात कही- राजनाथ शर्मा


बाराबंकी। डॉ. भीमराव अम्बेडकर समतावादी विचारक थे। उनका लक्ष्य समाज का विकास करना था। डॉ. लोहिया और डॉ. अम्बेडकर में कई बातों में समानता थीं। डॉ. अम्बेडकर ने दलितों को जागरूक किया और डॉ. लोहिया ने दलितों के साथ साथ पिछड़ों के आरक्षण की बात करते हुए ‘पिछड़ा पावे सौ में साठ’ का नारा दिया। 

उक्त विचार गांधी भवन में गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट द्वारा भारत रत्न डा. भीमराव रामजी अम्बेडकर की 126वीं जयन्ती पर आयोजित संगोष्ठी में समाजवादी चिन्तक राजनाथ शर्मा ने विचार व्यक्त किए। 

श्री शर्मा ने डा. अम्बेडकर के चित्र पर मार्ल्यापण करके उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके उपरान्त आयोजित गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए श्री शर्मा ने कहा कि डॉ. अम्बेडकर ने स्वतंत्रता, समानता और समता की बात कही जबकि डॉ. लोहिया ने समानता, लोकतंत्र और सत्याग्रह पर बल दिया। डा लोहिया और भीमराव अम्बेडकर का संघर्ष समाज के अन्तिम व्यक्ति को लाभान्वित करने का था। उनका प्रयास था कि भारत विश्व पटल पर एकता, अखंडता और समता का प्रतीक बनकर उभरे। डा. अम्बेडकर का कहना था कि भारत की राजनीतिक स्वतंत्रता और प्रजातंत्र की हिफ़ाजत करने के लिए जरूरी है कि सामाजिक और आर्थिक क्षेत्रों में यथाशीघ्र समता और बराबरी को समुचित तौर पर समाहित किया जाए। 

समाजसेवी अशोक शुक्ल ने कहा कि बाबा साहेब डा. अम्बेडकर एक प्रखर देशभक्त और प्रबल राष्ट्रवादी नेता थे। उनका भारत का निर्माण का सपन आज भी अधूरा है। डा. अम्बेडकर की वैचारिक विरासत की हिफाज़त तभी हो सकती है, जब देश से जातिवादिता पूरी तरह समाप्त हो जाए। भारतीय समाज को सामाजिक और आर्थिक तौर पर समतावादी बनाने के लिए हमें प्रतिबद्ध होना चाहिए। इस दौर में दलित आंदोलन को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाने के लिए हमें बाबा साहेब डा. अम्बेडकर के सपनों के भारत का निर्माण करने का संकल्प लेना होगा। जिससे देश व समाज में जाँत-पांत, ऊंच-नीच, गरीबी-अमीरी का फर्क पूर्णतः समाप्त हो सके। 

इस मौके पर आल इण्डिया मुस्लिम वारसी समाज के अध्यक्ष वासिक वारसी, विनय कुमार सिंह, मृत्युंजय शर्मा, पाटेश्वरी प्रसाद, रवि प्रताप सिंह, एहतिशाम खान, ज्ञान तिवारी, शिवा शर्मा, चन्द्रिका यादव, सत्यवान वर्मा, शमीम वारसी, मोहम्मद अदीब इकबाल, मनोज पाठक, आसिफ हुसैन, आदित्य यादव, राम शंकर सहित कई लोग उपस्थित थे।

Don't miss the stories followरुदौली न्यूज़ and let's be smart!
Loading...
0/5 - 0
You need login to vote.
prev-next.jpg

​समाजवादी पार्टी कार्यालय पर मनाई गयी भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जयन्ती

मामूली विवाद में दो भाइयो में  मार पीट

Related posts
Your comment
Leave a Reply

  (To Type in English, deselect the checkbox. Read more here)

Lingual Support by India Fascinates
%d bloggers like this: